India

disha ravi: टूल किट विवाद: Disha Ravi ने कोर्ट से दी जमानत – Activist disha ravi ने दिल्ली की टूलकिट मामले में जमानत दी

हाइलाइट करें:

  • दिशा रवि को जमानत दे दी गई है।
  • पटियाला हाउस सेशंस कोर्ट ने जमानत दी।
  • पुलिस मामले की जांच कर रही है।

नई दिल्ली: नरेंद्र मोदी सरकार के विवादास्पद किसान कानून के खिलाफ किसानों के आंदोलन के समर्थन में ग्रेटा थुनबर्ग द्वारा साझा किए गए टूल किट के सिलसिले में गिरफ्तार की गई पर्यावरण कार्यकर्ता दिश रवि को जमानत दे दी गई है। 13 फरवरी को गिरफ्तार किए गए दिश को नौ दिन बाद जमानत पर रिहा कर दिया गया था। अदालत की मुख्य शर्त जमानत के लिए 1 लाख रुपये का बांड और समान राशि के दो जमानती हैं।

यह भी पढ़ें:  कमर में चोट: पैर में छुरा घोंपकर हुई मौत, गुप्तांग में जख्म ീീെ പോീീപോ ീീെപൂവൻ ോഴോഴെപോഴപോോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴ ോഴോഴീപ ോഴോഴപൂവൻപപൂവൻ െപൂവൻോഴപപൂവൻ ോഴോഴെപപൂവൻീോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴ ോഴപൂവൻെോഴോഴ ോഴപൂവൻോഴോഴപൂവൻോഴ ോഴപൂവൻോഴപപൂവൻോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴ ോഴപൂവൻോഴോഴപൂവൻപൂവൻ പൂവൻപൂവൻപൂവൻപപൂവൻീീപൂവൻോഴോഴോഴോഴ ോഴപൂവൻെോഴപൂവൻപൂവൻോഴപൂവൻപൂവൻ ോഴപൂവൻെപപൂവൻീപൂവൻപൂവൻപൂവൻോഴോഴ ോഴപൂവൻെോഴോഴപൂവൻോഴപൂവൻപൂവൻപൂവൻോഴ ോഴപൂവൻെപപൂവൻോഴപൂവൻപൂവൻപൂവൻപൂവൻപൂവൻ ോഴപൂവൻെോഴപൂവൻോഴപൂവൻപൂവൻപൂവൻപൂവൻപൂവൻോഴോഴ ോഴപൂവൻെപപൂവൻപൂവൻോഴപൂവൻോഴപൂവൻപൂവൻോഴപൂവൻോഴോഴപൂവൻ ോഴോഴോഴപപൂവൻോഴപൂവൻ പൂവൻപൂവൻെപപൂവൻീപൂവൻപൂവൻപൂവൻപൂവൻപൂവൻപൂവൻപൂവൻപൂവൻോഴോഴപൂവൻോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴോഴ) के तहत के लिए जख्मों पर मरहम लगाने के बाद पुलिस देखती है)

Also Read: इमरान खान ने दी ‘उड़ान’ की इजाजत; मोदी की राह को रोकते हुए पाकिस्तान को भारत की प्रतिक्रिया

दिशा की जमानत अर्जी पटियाला हाउस सेशंस कोर्ट ने दी थी। दिश को सोमवार को एक दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया था। साइबर पुलिस ने मामले में आरोपी मलयाली वकीलों निकिता जैकब और शांतनु मुलुक से पूछताछ की। दोनों को बॉम्बे हाईकोर्ट ने अग्रिम जमानत दी है।

यह भी पढ़ें:  'द ग्रेट इंडियन किचन' का तमिल और तेलुगु रीमेक आ रहा है

दिल्ली पुलिस ने आरोप लगाया है कि किसानों की हड़ताल के समर्थन में टूल किट में दो लाइनें संपादित करने वाली दिश रवि ने देश के खिलाफ युद्ध का आह्वान किया। दिशा रवि को दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम यूनिट ने उत्तर बंगाल में उनके घर से गिरफ्तार किया था। दिल्ली पुलिस पर धर्मनिरपेक्षता, आपराधिक साजिश रचने और देश के खिलाफ युद्ध का आह्वान करने का आरोप लगाया गया है।

Also Read: केरल आने वाले विदेशियों के लिए RTPCR चेक

दिल्ली पुलिस ने कहा है कि विवादास्पद टूलकिट में हाइपरलिंक देश विरोधी प्रचार का कारण बन सकता है। पुलिस का आरोप है कि हाइपरलिंक से यह भी प्रचार होता है कि सेना नरसंहार कर रही है।

पीएससी उम्मीदवारों ने हड़ताल तेज कर दी

यह भी पढ़ें:  disha ravi: टूल किट केस; शिकायतों के निपटान के लिए कानून का उपयोग न करें; दिल्ली पुलिस ने देहाती रेवी मामले पर पुलिस के खिलाफ किया मुकदमा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button